एक विद्यालय ऐसा जहां के सभी अध्यनरत बच्चे हैं मांसाहारी ।। Inquilabindia

अरवल से निशान्त मिश्र

फल वितरण करने पर करते हैं हंगामा

प्रत्येक शुक्रवार को सभी बच्चों के बीच बटती है अंडा

राज्य सरकार द्वारा विद्यालयों में बच्चों की बेहतर उपस्थिति व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के उद्देश्य से विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना का शुभारंभ किया था ताकि बच्चे ज्यादा से ज्यादा विद्यालय में पहुंचकर शिक्षा ग्रहण करें हालांकि बच्चों के सेहत का ख्याल रखते हुए सरकार ने मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत प्रत्येक दिन का अलग-अलग मीनू प्रकाशित कर भोजन देने का निर्देश सभी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दी गई थी हालांकि इसी में प्रत्येक शुक्रवार को स्कूली बच्चों के बीच अंडा वितरण करना है साथ ही जो बच्चे शाकाहारी हैं उनके बीच फल का वितरण की जाती है लेकिन विगत कई वर्षों से अरवल जिला के कुर्था प्रखंड क्षेत्र के उत्क्रमित मध्य विद्यालय कोदमरई में जहां 357 बच्चे नामांकित हैं सबसे बिगर बात यह है कि इस विद्यालय के सभी बच्चे मांसाहारी हैं जिन्हें शुरू से ही प्रत्येक शुक्रवार को अंडा वितरण किया जाता है हालांकि प्रभारी प्रधानाध्यापक अशोक कुमार चौधरी बताते हैं कि यहां के सभी बच्चे मांसाहारी हैं ।

Screenshot 2023 0512 210717

अगर शुक्रवार को फल का वितरण किया जाए तो सभी बच्चे हंगामा करने लगते हैं और अंडे की मांग करते हैं एक तरफ से कहा जाए तो यह आश्चर्य की बात है कि इस विद्यालय में एक भी बच्चे शाकाहारी नहीं है सभी बच्चे मांसाहारी हैं विद्यालय के कर्मियों व शिक्षकों की माने तो उक्त विद्यालय में शुक्रवार को अगर अंडे की जगह फल का वितरण किया जाए तो कई बच्चे हंगामा करने लगते हैं जिसकी वजह से शुरू से ही प्रत्येक शुक्रवार को उक्त विद्यालय में मध्यान भोजन के दौरान अंडे का वितरण किया जाता है उन्होंने बताया कि सावन मास जैसे धार्मिक महीने के दौरान भी यहां के बच्चे चाहते हैं कि उन्हें मध्यान भोजन के दौरान अंडा ही मिले

Leave a Comment