दो वर्ष पूर्व मामूली विवाद में दबंगों द्वारा धारदार हथियार से मारपीट में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत

दो वर्ष पूर्व मामूली विवाद में दबंगों द्वारा धारदार हथियार से मारपीट में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत

घर मे मचा कोहराम

डॉक्टर ने सूक्ष्म ऑपरेशन कर रीढ़ से निकाली थी छह इंच की बरछी का टुकड़ा

नवगछिया – बिहपुर थाना क्षेत्र के अमरपुर पुवारी बहियार में दो वर्ष पूर्व नींबू तोड़ने को लेकर मामूली विवाद में दबंगों द्वारा अमरपुर निवासी किसान राजीव उर्फ बुचो सनगही के पुत्र पुरुषोत्तम कुमार सनगही उम्र 27 वर्ष को बरछी, सरिया, लोहे के रॉड से मारपीट कर अधमरा कर दिया था। लंबे समय तक इलाज के बाद शुक्रवार की दोपहर करीब 12 बजे पुरुषोत्तम की मौत उसके घर पर हो गई। युवक की मौत के बाद परीजन व घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है।वही पूरे गांव में मातम पसर गया है।

क्या है मामला : –


तेरह अगस्त 2022 की शाम करीब छह बजे बिहपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत पुवारी बहियार अमरपुर में नींबू तोड़ने को लेकर आधा दर्जन दबंगों ने अमरपुर गांव निवासी पुरुषोत्तम कुमार सनगही पिता राजीव उर्फ बुचो सनगही उम्र 27 वर्ष को गमछी से बांधकर बरछी, हसुआ, सरिया, लोहे के रॉड और चाकू से मारपीट कर अधमरा कर दिया था।

घसीटते व मारते पीटते उसे अपने घर लेकर गए। उसके पूरे शरीर पर कई जगह जख्म व चोट था।घटना के बाद ग्रामीणों ने घायल पुरुषोत्तम को मरणासन्न हालत में ग्लोकल भागलपुर में भर्ती कराया था जहां डॉक्टर ने पुरुषोत्तम के रीढ़ से छह इंच का बड़ा बरछी का नोक (टुकड़ा) सूक्ष्म ऑपरेशन के बाद निकाला था। करीब दो माह तक ग्लोकल हॉस्पिटल भागलपुर में इलाजरत रहा था। पैसे के अभाव में पिता ने उसे मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया. जहां स्थिति बिगड़ने पर उसे पटना में भर्ती कराया।उस समय करीब 10 से 12 लाख रूपीए खर्च कर बेहतर इलाज के कारण पुरुषोत्तम की जान तो बच गई थी लेकिन ग्लोकल के डॉक्टर ने स्पष्ट रूप से पुरुषोत्तम के माता-पिता को बताया था कि बरछी का टुकड़ा रीढ़ के अंदर फंस जाने के कारण पुरुषोत्तम के रीढ़ का पैनल पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है।

खुन कि कमी बताया था।डॉक्टर ने कहा था कि पुरुषोत्तम अब कभी खुद से उठकर खड़ा नही हो सकेगा.तब से पुरुषोत्तम पेट के बल बिस्तर पर लेटा था। उसके माता पिता व भाई उसकी सेवा करते थे।शुक्रवार को अचानक पुरुषोत्तम ने दम तोड़ दिया। मृतक दो भाई में बड़ा खेतीबाड़ी व मवेशी पालन कर घर चलाता था।मृतक की शादी घटना के कुछ माह पूर्व ही हुई थी। पुरुषोत्तम के अस्वस्थता के कारण उसकी पत्नी भी उसे छोड़कर मायके चली गई। वह कभी लौटकर नही आई।घटना के बाद मृतक की मां पिंकी देवी, छोटा भाई कृष्णा कुमार सहित वृद्ध पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। देर शाम महादेवपुर गंगा घाट पर शव का दाह संस्कार कर दिया गया।मुखाग्नि छोटा भाई कृष्णा ने दिया।

पुरुषोत्तम के पिता ने आधा दर्जन दबंगों को किया था नामजद

पूर्व में दो अभियुक्तों की हुई थी गिरफ्तारी, दो ने किया था आत्मसमर्पण

घटना के बाद पुरुषोत्तम के पिता राजीव उर्फ बुचो सनगही के लिखित आवेदन पर बिहपुर थाना कांड संख्या 457/22 दर्ज किया गया। जिसमे बभनगामा निवासी शिबो सिंह, नरेश सिंह दोनो पिता स्व गणेशी सिंह व इनके पुत्र ब्रजेश सिंह, मृत्युंजय सिंह, नीरज सिंह, अमलेश सिंह सहित कुल आधा दर्जन अभियुक्तों को नामजद किया गया था। कांड दर्ज कर बिहपुर पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। वही दो अभियुक्तों ने पुलिस दबिश से परेशान होकर न्यायालय में आत्मसमर्पण किया था। बिहपुर थानाध्यक्ष राहुल कुमार ठाकुर ने कहा की क्या मामला है, पूरी जानकारी नही है। केस फाइल देखकर जांचोपरांत अग्रतर कार्यवाई की जाएगी।

Leave a Comment